सुप्रीम कोर्ट के 4 जजों की शिकायत के बाद सियासी गलियारों में आलोचनों का दौर शुरू हो गया है। कोई इसे अदालत के आंतरिक मामलें की संज्ञा दे रहा, तो कोई ऐसे शिकायत के पीछे सरकार की गलती कह रहा है।

अब जेडीयू के बागी नेता शरद यादव भी इस मामले में कूद पड़े है। उन्होंने तो पूरे विवाद के लिए मोदी सरकार को ही दोषी ठहरा दिया है।

शरद यादव ने इस मामलें पर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि जजों ने कुछ भी गलत नहीं किया और उन्होंने बेहद दबाव में ये कदम उठाया होगा। अब हालात सामान्य करने की जरूरत है।

वही कांग्रेस के इस मामलें पर सवाल उठने के मामलें पर बोलते हुए शरद यादव ने कहा कि उन्हें कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी का इस मसले पर प्रेस कॉन्फ्रेंस करने में कोई समस्या नजर नहीं आती।

गौरतलब है सुप्रीम कोर्ट के 4 जजों ने शुक्रवार को प्रेस कांफ्रेंस कर मुख्य न्यायधीश दीपक मिश्रा के खिलाफ अपनी शिकायत देश के सामने रखी। चारों जजों ने कहा कि हम बस देश का कर्ज़ अदा कर रहे हैं।

हम नहीं चाहते कि हम पर कोई आरोप लगाए और कहा कि हम ऐसा सिर्फ इस लिए कह रहे क्योकिं कल को कोई यह न कह दे कि हमने अपनी आत्मा बेच दी है। जजों ने कहा कि जब तक इस संस्था को बचाया नहीं जा सकता, लोकतंत्र को नहीं बचाया जा सकता।

Loading...
loading...