गुजरात में कांग्रेस विधायकों के बाद त्रिपुरा में तृणमुल कांग्रेस के 6 विधायक भारतीय जनता पार्टी में शामिल हो गए हैं। गुजरात में सत्तारूढ़ भाजपा को विपक्षी पार्टी कांग्रेस को तोड़ना पड़ रहा है। कांग्रेस ने भाजपा 10 करोड़ रूपए लालच देने का आरोप लगाया।

कांग्रेस मुक्त का सपना देख रही भाजपा कांग्रेस युक्त होती जा रही है। कांग्रेसी नेताओं ने अपने विधायकों को खरीद-फरोख्त व अपहरण से बचाने के लिए दूसरे राज्य में तक भेज दिया। लेकिन अब कांग्रेस के अलावा पश्चिम बंगाल की सत्ताधारी पार्टी तृणमूल कांग्रेस पर भाजपा की नजरें टेढ़ी हो गई हैं।

आज त्रिपुरा में टीएमपी के 6 विधायकों ने भाजपा का दामन थाम लिया है। जैसे ही त्रिपुरा में टीएमसी विधायकों के भाजपा में जाने की खबरें आई वैसी ही लोगों ने सोशल मीडिया पर वहां भी खरीद-फरोख्त होने की आशंका लगानी शुरू कर दी।

ट्विटर पर लोगों ने लिखा कि, त्रिपुरा के छह तृणमूल कांग्रेसी विधायकों को भी भाजपा ने खरीद लिया, कालेधन की कमी नहीं हैं। नोटबंदी की जय हो।

आपको बता दें कि, विपक्ष नेताओं को भाजपा में शामिल किया जा रहा है। जिसको लेकर विपक्ष पैसे से सत्ता खरीदने का आरोप लगा रहा है। गुजरात में भी कई विधायकों ने 10 करोड़ घूस की बात स्वीकार की थी।

Loading...
loading...