देश में आज भी कहीं हिंसा हो जाए तो इलाके में तनाव के हालात पैदा हो जाते हैं। ऐसा ही कुछ हुआ है उत्तराखंड के हरिद्वार और ऋषिकेश के बीच। जहां हिंसा और आगजनी की घटनाओं से इलाके में डर का माहौल बना हुआ है।

बताया जा रहा है कि हरिद्वार के निकट मुर्गी फार्म इलाके के गांव में रहने वाले सभी 17 मुस्लिम परिवार गांव को छोड़कर भाग गए हैं। वहीं इसी गांव की एक 19 साल की मुस्लिम लड़की 32 साल के एक ड्राइवर से प्यार करती थी।

लेकिन हरिद्वार से 13 किलोमीटर दूर रेलवे ट्रैक पर रेलवाला टाउन के पास ड्राइवर की लाश मिलने से इलाके में सनसनी फैल गई है। बताया जा रहा है कि ड्राइवर टिहरी फार्म का रहने वाला था और मुर्गी फार्म में वह अपनी प्रेमिका से मिलने गया था। वहीं दोनों गांव रेलवाला टाउन के अंतर्गत आते हैं।

 

इंडियन एक्सप्रेस की खबर के अनुसार, ड्राइवर 3 अक्टूबर की रात को अपनी प्रेमिता से मिलने मुर्गी फार्म गया था। वहीं एसएचओ गुसाई ने इंडियन एक्सप्रेस को बताया कि, लड़की ते पिता ने कई बार दोनों के बीच के प्रेम प्रसंग को खत्म करने की कोशिश की थी, लेकिन जब 3 अक्टूबर को ड्राइवर लड़की से मिलने मुर्गी फार्म पहुंचा तो लड़की के पिता के साथ उसकी बहस हो गई। और बाद में उसी रात उसकी लाश रेलवे ट्रैक के पास मिली।

 

आपको बता दें कि रेलवाला इलाके में अभी भी तनाव की स्थिती बनी हुई है। वहीं प्रशासन ने पिछले एक सप्ताह से धारा 144 लगा रखी है। बताया जा रहा है कि 6 अक्टूबर को सोशल मीडिया पर एक संदेश वायरल हुआ था, जिसमें एक हिन्दू युवक की हत्या का जिक्र था।

इस मामले में एसएचओ ने बताया कि, यह संदेश फर्जी था, ताकि इलाके में उपद्रव फैलाया जा सके। बावजूद इसके इस संदेश के बाद उपद्रवियों ने रेलवाला से करीब 15 किलोमीटर दूर कनखल में मुस्लिमों की चार दुकानों में आग लगा दी थी।

उसी दिन रेलवाला से 13 किलोमीटर दूर ऋषिकेश में भी मुस्लिम की एक अस्थाई दुकान और बैलगाड़ी को उपद्रवियों ने आग के हवाले कर दिया था।

Loading...
loading...