Thursday, Feb 23, 2017
HomePosts Tagged "ravish kumar"

कसाब? वो आपके राजनीतिक विरोधी हैं, देश विरोधी नहीं! कितनी नफरत अमित शाह साहेब? कोई हद है इसकी? कि आपने कांग्रेस, सपा और बसपा को एक आतंकवादी बता दिया? आपको क्या ऐसे ही प्रतीक मिलते हैं? या फिर ये "भी" एक जुमला है? जिसके लिए आप

Read More

कसाब? वो आपके राजनीतिक विरोधी हैं, देश विरोधी नहीं! कितनी नफरत अमित शाह साहेब? कोई हद है इसकी? कि आपने कांग्रेस, सपा और बसपा को एक आतंकवादी बता दिया? आपको क्या ऐसे ही प्रतीक मिलते हैं? या फिर ये "भी" एक जुमला है? जिसके लिए आप

Read More

आलोचक उनके लिए दुश्मन होता है, 'दुश्मनी' निकालने का उनके पास एक ही ज़रिया है कि आलोचक को बदनाम करो, उसका चरित्र हनन करो। भले वे विफल रहें, पर जब-तब अपनी गंदी आदत को आज़माते रहते हैं। उनकी आका भाजपा की वैसे ही रवीश से

Read More

यूपी चुनाव अपने लेवल पर आ गया है। भाषा के मामले में हमारे नेता उसी क्लास से पढ़कर आए हैं जिसका मास्टर कभी क्लास लेता ही नहीं था। हर चुनाव में राजनीति में भाषा के गिरते स्तर पर बात होती है। उसके अगले चुनाव में

Read More

मुझे लगा आज प्रधानमंत्री अरुणाचल प्रदेश के पूर्व सीएम के सुसाइड नोट को लेकर कांग्रेस को बिल्कुल नहीं छोड़ेंगे और कांग्रेस से निकल कर बीजेपी के मुख्यमंत्री बने अरुणाचल के मौजूदा सीएम की तो ख़ैर नहीं होगी जिन पर कालिखो पुल ने सुसाइड नोट में

Read More

कुशीनगर, लखनऊ, कानपुर, मेरठ, बाराबंकी, कन्नौज, लखीमपुर खीरी, हरदोई, बिजनौर, बदायूं, गाजियाबाद सहित कई ज़िलों में प्रधानमंत्री मोदी की रैली हो चुकी है। हिन्दुस्तान अख़बार ने बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह का इंटरव्यू छापा है। इसके परिचय में लिखा है कि अमित शाह ने

Read More

ट्रोल लगता है कि नोटबंदी के कारण पेमेंट के इंतज़ार में घर बैठ गए हैं। आईटी सेल वालों को लगता है कि गूगल सर्च से कुछ मिल ही नहीं रहा है। टाइम्स ऑफ इंडिया, इंडिया टुडे, आजतक, भास्कर, पत्रिका इन सबमें वो ख़बर छपी है

Read More

“हम बहक गए थे। ख़ून सवार हो गया था। अब हम समझ रहे हैं कि 2013 में जो कुछ भी हुआ, अच्छा नहीं हुआ। दंगा नहीं होना चाहिए। बँटवारे की राजनीति ने हमको कमजोर कर दिया है।”बुढ़ाना विधानसभा के खरड़ गाँव में राष्ट्रीय लोकदल के

Read More

आज सुबह सुबह बीजेपी उत्तरप्रदेश के फेसबुक पेज पर बीजेपी के इस प्रचार पोस्टर को देखकर चुनावी विज्ञापनों की चालाकी पकड़ने का मन कर गया। इस पोस्टर में जो आंकड़ें दिये गए हैं वो तथ्य के हिसाब से सही हैं मगर जिस रिपोर्ट के आधार

Read More

दिलीप यादव जेएनयू में कई दिनों से भूख हड़ताल पर बैठा है। कई दिनों से भूख हड़ताल के कारण उसे अस्पताल में भर्ती न कराया गया होता तो शायद ही किसी की नज़र जाती। दिलीप यादव जिस मुद्दे के लिए अपनी जान से खेल रहा

Read More