शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने महाराष्ट्र की भाजपा सरकार को धमकी दी है कि किसानों के कर्ज माफ किए जाएं नहीं तो समर्थन वापस ले लेंगे। इससे राज्य सरकार सकते में है क्योंकि भाजपा के पास पूर्ण बहुमत नहीं है। और वह शिवसेना के साथ मिलकर सरकार बनाए हुए है।

वहीँ ठाकरे ने पीएम मोदी के ‘मन की बात’ कार्यक्रम पर तंज कसते हुए कहा कि अब मन की नहीं किसानों की बात करो।

ठाकरे ने सवाल करते हुए कहा कि, महाराष्ट्र सरकार को ढ़ाई साल हो गए लेकिन अभी तक किसानों के लिए क्या किया है. अब बहुत देर हो गई है किसानों का कर्ज माफ किया जाए, नहीं तो शिवसेना सरकार से समर्थन वापस ले लगी।

गौरतलब है कि 228 सीटों वाली महाराष्ट्र विधानसभा में भाजपा के पास 122 सीटें हैं और शिवसेना की 63 सीटों को मिलाकर सरकार बनाई गई है। अगर शिवसेना अपना समर्थन वापस लेती है तो भाजपा को कांग्रेस या एनसीपी से समर्थन लेना पड़ेगा जोकि बेहद मुश्किल काम है ।

हालांकि आगे किसी भी किसी तरह की संभावना को देखते हुए भाजपा ने शरद पवार से रिश्ते सुधारे हैं और शायद इसीलिए उन्हें पद्म पुरस्कार दिया गया है।

ऐसा पहली बार नहीं है कि ठाकरे भाजपा को धमकी दे रहे हैं इससे पहले भी वह कह चुके हैं कि उत्तर प्रदेश की योगी सरकार से सीख लेते हुए फड़नवीस को भी किसानों की कर्जमाफी कर देनी चाहिए ।

पिछले चुनाव में पिछड़ चुकी शिवसेना किसानों की कर्जमाफी को मुद्दा बनाकर फिर से बड़ा समर्थन पाना चाहती है । इसलिए अटकलें लगाई जा रही हैं कि यह महज धमकी नहीं है। सच में शिवसेना अपना समर्थन वापस ले सकती है।

Loading...
loading...