भारतीय नेवी ऑफिसर कुलभूषण जाधव को पाकिस्तान में जासूसी के आरोप में फांसी की सजा सुनाई गई है। पाकिस्तान के मिलेट्री कोर्ट ने यह फैसला दिया है।

कुलभूषण जाधव भारतीय नेवी ऑफिसर थे जिन्हें 2016 में पाकिस्तान के मुताबिक जासूसी करते बलूचिस्तान से गिरफ्तार किया गया था लेकिन भारत सरकार का दावा है कि उन्हें पाकिस्तान ने ईरान से अपहरण किया था।

बीते रोज जब कोर्ट ने कुलभूषण जाधव को फांसी की सजा सुनाई तो भारत में पाकिस्तान के लिए नाराज़गी देखने को मिली। संसद में विपक्ष ने निंदा की।

सरकार पर विपक्ष ने निशाना साधते हुए कहा कि, सरकारी ढुलमुल रवैये से कुलभूषण जाधव को पाकिस्तान ने फांसी की सज़ा सुनाई है।

लेकिन इसके इतर सोशल मीडिया पर सरकारी की नाकामी पर काफी तंज कसे गए।

मध्यप्रदेश में पाकिस्तान के लिए जासूसी करते पकड़े गए बीजेपी आईटी सेल के ध्रुव सक्सेना सहित 11 लोगों को सोशल मीडिया पर काफी सरकार को घेरा गया।

एक यूजर ने लिखा कि, अगर पाकिस्तान ने भारतीय जासूस बोलकर कुलभूषण को फांसी की सजा सुनाई तो भारत को आईएसआई के 11 जासूसों को फांसी जैसी कड़ी सुनाकर बदला लेना चाहिए।

दरअसल सरकार की नाकामी पर तंज कसते हुए लोगों ने इस पर तमाम प्रतिक्रियाएं दी।

Loading...
loading...