हैदराबाद में एक महिला पिछले सात दिनों से अजीब मांग को लेकर अनशन पर बैठी हुई है। महिला की मांग है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को औपचारिक रूप से जशोदाबेन को अपनी पत्नी के रूप में स्वीकार करना चाहिए या उन्हें दी गई सुरक्षा को हटानी चाहिए।

पेशे से एक होम्योपैथी डॉक्टर पलेपू सुशीला, हैदराबाद के हफीजपेट इलाके में अपने आवास पर इस मांग को लेकर अनशन पर बैठी है।

“मुंबई मिरर” से बात करते हुए सुशीला ने कहा “जशोदाबेन को सुरक्षा क्यों दी गई है? पूरा देश ये मानता है कि वो प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की पत्नी है। अगर ये सच है तो प्रधानमंत्री को उन्हें आदर सहित घर ले जाना चाहिए, और अगर वो ऐसा नहीं करते है तो जशोदाबेन को दी हुई सुरक्षा हटाने के लिए प्रधानमंत्री को आदेश देना होगा।”

जब सुशीला से पूछा गया कि वो इस मुद्दे को क्यों उठा रही है तो इसपर सुशीला ने कहा कि एक हिन्दू महिला होने के नाते ये उनका कर्त्तव्य बनता है कि वो जशोदाबेन को न्याय दिलाए। या तो जशोदाबेन को प्रधानमंत्री की पत्नी होने का पहचान मिले या फिर उन्हें दी हुई सुरक्षा हटाई जाए। उन्होंने ये भी बताया की जशोदाबेन को दी हुई सुरक्षा बेवजह उनकी आज़ादी छीन रही है।

आपको बतादें की जशोदाबेन गुजरात के मेहसाना जिले के उंझा में रहती है, जहाँ उन्हें 10 पुलिस ऑफिसर हमेशा घेरे रखते है। उन्होंने दो बार अपने आप को प्रदान की गई सुरक्षा के बारे में जानकारी मांगी थी मगर उन्हें कोई जावाब नहीं मिला।

अगर पलेपू सुशीला का दावा सही निकलता है तो प्रधानमंत्री को निश्चित ही कोई बड़ा कदम उठाना पड़ेगा। या तो प्रधानमंत्री को जशोदाबेन को अपनी पत्नी का दर्ज़ा देना होगा या तो उन्हें दी गई सुरक्षा हटानी होगी।

Loading...
loading...