किसी अफसर को उसके धर्म के कारण, उसके विभाग के ही उच्च पदस्थ अफसरों द्वारा दुर्व्यवहार किया जाए, तो सोचिए की कितनी शर्मनाक हरकत होगी।

मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल के मुस्लिम ऑफिसर नियाज अहमद ने अपने ऑफिसर के दुर्व्यवहार वाला वाकया ट्वीटर पर शेयर किया है। नियाज का पूरा नाम नियाज अहमद खान है।

नियाज पीएचई विभाग में उपसचिव पद पर पदस्थ हैं। नियाज ने ट्वीटर पर शेयर किया कि उनके मुस्लिम होने की वजह से उन्हें अपनी नौकरी के दौरान बहुत कुछ भुगतना पड़ा है।

सीनियर ऑफिसर ने बैठक के दौरान किया दुर्व्यवहार

नियाज ने अपने एक ऑफिसर पर आरोप लगाया कि मंत्रालय में उनके एक सीनियर ऑफिसर ने बैठक के दौरान उनसे दुर्व्यवहार किया।

नियाज ने आजतक से बातचीत में बताया कि 17 सालों की उनकी नौकरी में 10 जिलों में 19 बार विभाग बदले गए हैं या तबादले हुए हैं। लेकिन मैंने अपना काम हमेशा से इमानदारी से किया है और इसके बावजूद भी मुझे निशाना बनाया गया है।

मुझे अहसास दिलाया गया कि मैं किस धर्म से हूं

नियाज ने बताया कि मेरे अनुभवों से लगता है कि मैं जिस धर्म से आता हूं शायद इसी कारण मेरे साथ ऐसा दुर्व्यवहार किया गया है। मुझे हमेशा याद दिलाया गया है कि मैं किस धर्म से आता हूं।

नियाज ने पक्षपात की बात भी कही, उन्होंने कहा कि भोपाल में वो सालभर से हैं लेकिन अभी तक सरकारी घर नहीं मिला है। जबकि उनके साथ वाले सभी अफसरों को सरकारी घर मिल चुका है।

नियाज अहमद लिखने का भी शौक रखते हैं। अब तक वे 4 किताबें लिख चुके हैं। नियाज अपनी 5वीं किताब लिखने वाले हैं। नियाज ने कहा है कि अपना आगामी किताब में वे मुस्लिम होने की वजह से उनके साथ हुए दुर्व्यवहार के बारे में लोगों से साझा करेंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here