आर्थिक रूप से कमज़ोर सवर्णों को 10 फ़ीसदी आरक्षण के मोदी सरकार के एलान ने मोदी सरकार को विपक्ष के निशाने पर ला दिया है।

कांग्रेस, आप, बसपा समेत तमाम विपक्षी दल इसे चुनावी स्टंट बता रहे हैं। अब पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने इसे लेकर मोदी सरकार पर बड़ा हमला किया है। ममता ने कहा, “मोदी सरकार बेरोज़गार युवकों को ठगना चाहती है।“

पश्चिम बंगाल की सीएम और तृणमूल कांग्रेस नेता ममता बनर्जी ने कहा कि, “चुनाव से पहले क्या मोदी सरकार बेरोज़गार युवकों को ठगना चाहती है। सबसे पहले सरकार को ये बात साफ़ करना होगा कि इसे लागू किया जाएगा या नहीं। क्या ये फ़ैसला संवेधानिक रूप से वैध है या अवैध?”

सवर्ण आरक्षण पर बोले आशुतोष- मोदी जी, जब ‘नौकरी’ ही नहीं है तो ‘आरक्षण’ किसे दोगे ?

मायावती ने भी मोदी सरकार पर किया हमला-

ग़रीब सवर्णों को 10 फ़ीसदी आरक्षण देने के केंद्र सरकार के फ़ैसले को बसपा सुप्रीमो मायावती ने चुनावी स्टंट बताया है। मायावती का कहना है कि, “लोकसभा चुनाव से पहले लिया गया ये फ़ैसला हमें सही नीयत से लिया गया फ़ैसला नहीं लगता है।

ये चुनावी स्टंट लगता है, राजनीतिक छलावा लगता है। अच्छा होता अगर बीजेपी ये फ़ैसला अपना कार्यकाल ख़त्म होने से पहले नहीं बल्कि बहुत पहले ले लेती”

अगर 15% सवर्णों को 10% आरक्षण मिलेगा तो 70% आबादी वाले पिछड़ों को भी 65% आरक्षण मिले : RJD

मायावती ने ये भी कहा कि SC-ST, OBC को मिलने वाले 50 फ़ीसदी आरक्षण की समीक्षा की ज़रूरत है। इन तबकों को वहाँ भी आरक्षण मिले जहाँ अभी नहीं मिलता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here