हो गया न भूमिपूजन ! अब जरा मुद्दे पर आइये और मोदी जी से पूछिए कि मोदी जी आपने हमारे जैसे मध्यवर्गीय आदमी के लिए क्या सोचा है ?

ब्रिटेन के बोरिस जॉनसन ने पूरे ब्रिटेन में एक योजना शुरू की है जिसके तहत वो लोगों को रेस्त्रां, कैफ़े और पब में जाने के लिए प्रोत्साहित कर रहे है.इस योजना में पूरे ब्रिटेन के क़रीब 72 हज़ार खाने-पीन की जगहों पर अगस्त के महीने में सोमवार से बुधवार तक क़ीमत में 50 फ़ीसद की छूट दी जाएगी. उनकी सरकार ने मौजूदा संकट की अवधि में व्यवसायों को नकदी सहायता और खुदरा व हॉस्पिटेलिटी बिजनेस के लिए 12 महीनों तक व्यावसायिक दरों में छूट देने की है. पैकेज के तहत छोटे उद्योगों को 9 लाख रुपये से लेकर 23 लाख रुपये की आर्थिक मदद की जाएगी. वहीं, जिन उद्योगों को नकदी की जरूरत है, उन्‍हें सीधे मदद दी जाएगी।

चीन के सर्वेसर्वा जिंगपिंग ने इसी 26 जुलाई को महामारी की स्थिति बेहतर होने के बाद 15 लाख उपभोग कूपन जारी किये है । उन कूपन में 10 लाख ऑफलाइन भोजन व खरीदारी कूपन और 5 लाख स्मार्ट उत्पाद कूपन शामिल हैं पहले भी वह इस तरह के कूपन जारी कर चुके है।

अमेरिका के राष्ट्रपति ट्रम्प ने मार्च में ही नागरिकों की आर्थिक मदद के लिए 151 लाख करोड़ रुपये के पैकेज की घोषणा कर दी थी इसके तहत सरकार ने 25,000 करोड़ डॉलर का फंड ऐसे लोगों के लिए रखा, जिनकी नौकरी संक्रमण काल में चली गई है या जिनका रोजगार प्रभावित हुआ है. ऐसे लोगों को अगले 4 महीने तक सरकार वेतन भुगतान करेगी. सरकार ऐसे लोगों तक सीधे चेक भेजेगी। इसके अलावा साल में 75 हजार डॉलर या इससे कम कमाई करने वालों को 1200 डॉलर (करीब 90 हजार रुपये) की आर्थिक मदद की घोषणा की गई.

वहीं, 1,50,000 डॉलर सालाना कमाने वाले दंपत्ति को 2400 डॉलर का सहयोग दिय गया साथ ही हर बच्चे के लिए 500 डॉलर अलग से दिए गए। ट्रंप ने छोटी कंपनियों का कारोबार बंद होने से बचाने के लिए 35 हजार करोड़ डॉलर का एमरजेंसी लोन फंड की घोषणा की. यानी 500 कर्मचारियों से कम वाली कंपनियों के लोन माफ कर दिए जाएंगे. साथ ही 25,000 करोड़ डॉलर का फंड एम्प्लॉयमेंट इंश्योरेंस बेनिफिट के तौर पर जारी किया जाएगा. वहीं, 50 हजार करोड़ डॉलर का फंड संकटग्रस्त कंपनियों को लोन के तौर पर दिया जाएगा।

कनाडा के पीएम ट्रूडो ने नौकरी खोने वाले हर व्‍यक्ति को 1.51 लाख रुपये हर महीने देने की बात कही कनाडा सरकार बेराजगार हुए लोगों को अगले 4 महीने तक ये राशि देगी. वहीं, इटली में सेल्‍फ एम्‍प्‍लॉयड और कामगारों के लिए 50 रुपये दिए जाएंगे. यहां बेबीसिटर रखने के लिए अलग से 50 हजार रुपये का बाउचर भी दिया गया इटली सरकार ने 28 अरब डॉलर के राहत पैकेज की घोषणा की थी।

जापान ने 19.6 अरब डॉलर का फंड कोरोना वायरस से मुकाबले के लिए घोषित किया है. इसके तहत जिन लोगों का वेतन कम हुआ है, उन्‍हें 2.12 लाख रुपये कैश दिया जाएगा. साथ ही मेडिकल जरूरतों के दौरान सरकार लोगों की मदद करेगी।

अब बताइये मोदी जी आपने हम मध्यवर्ग के लोगो के लिए क्या किया ? जो बिजली का बिल और GST जैसा टैक्स चुका चुका कर औंधे हुए जा रहे है।

(ये लेख गिरीश मालवीय के फेसबुक वॉल से साभार लिया गया है)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here