2019 लोकसभा चुनाव बेहद क़रीब है, केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी आए दिन अपने बयानों पिटारे से नए-नए शब्दबाण निकाल कर तल्ख़ बयानों के बौछार किए जा रहे हैं। अब नितिन गडकरी ने कहा कि, जो अपना घर नहीं सम्भाल सकता, वो देश नहीं सम्भाल सकता

भाजपा की छात्रशाखा ABVP के पूर्व सदस्यों के सम्मेलन को शनिवार को सम्बोधित करते हुए मोदी सरकार में मंत्री नितिन गडकरी ने कहा- “BJP कार्यकर्ताओं को पहले अपनी घरेलू ज़िम्मेदारियों, बीवी, बच्चों, परिवार, सम्पत्ति को सम्भालना चाहिए। जो ऐसा नहीं कर सकता वो देश भी नहीं सम्भाल सकता।

उन्होंने आगे कहा, कई लोग मुझसे आकर कहते हैं कि, वो पार्टी और देश के लिए अपना जीवन समर्पित करना चाहते हैं। वो बताते हैं कि उन्होंने अपनी दुकान बंद करदी क्योंकि वो ठीक से चल नहीं रही थी।

गडकरी का बयान ‘मोदी’ को झूठा साबित करने के लिये काफ़ी है, लेकिन अंधभक्त अब ‘गूंगे’ भी हो गए हैंः आचार्य प्रमोद

घर में पत्नी है, बच्चे हैं। ऐसे लोगों से मैं कहता हूँ कि पहले अपने घर के लिए काम करें। अपने बीवी बच्चों को सम्भालें, फिर पार्टी और देश के लिए काम करें। जो घर नहीं सम्भाल सकता, वो देश नहीं सम्भाल सकता

बता दें कि गडकरी आए दिन ऐसे बयान देते आ रहे हैं जिनका ताल्लुक़ पीएम मोदी से समझा जाता रहा है। कुछ दिनों पहले ही उन्होंने कहा था कि, लोगों को सपना दिखाना अच्छी बात है पर झूठे सपने दिखाने वाले नेताओं को जनता पीटती भी है।

जुमलेबाजों को गडकरी की नसीहत- सपने दिखाकर धोखा देने वाले नेताओं को जनता पीटती भी है

इससे पहले वो ग़रीबी, बेरोज़गारी पर अपनी ही सरकार पर सवाल उठा चुके हैं। हालांकि वो सीधे पीएम मोदी का नाम नहीं लेते, लेकिन चुनावी सरगर्मी के बीच उनके सारे बयान उन्हीं की ओर इशारा ज़रूर करते हैं।

1 COMMENT

  1. Nitin gadkari sach bolne ki koshish kar rahey hain apni hi party k khilaf yahi kaam Shatrughan,yashwant,arun shory, Kirti azaad inki sachchai kisi k samajh nahi aai gadkari ji lucky hain inki baat sab ko samajh aati hai lekin gadkari ji ki durdarshi nazar ko 5 saal lage ye baat samajhne mein aur modi ji to aise ignore kar rahey hain jaise unke samajh me kuchch nahi araha hai har choti choti baat per react karnewale PM ki ye halat
    Achchhe din ……………………………

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here