चुनाव के करीब आते ही सरकारी एजेंसियां ऐक्शन मोड में आ गई हैं। बीजेपी और केंद्र सरकार के विरोधियों पर इन एजेंसियों का शिकंजा कसता नज़र आ रहा है। इसी फेहरिस्त में अब कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी के पति रॉबर्ट वाड्रा का नाम जुड़ गया है, जिनसे प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) मनी लॉन्ड्रिंग के एक पुराने केस में पूछताछ कर रहा है।

ईडी की इस कार्रवाई की टाइमिंग को लेकर वरिष्ठ पत्रकार अजीत अंजुम ने सवाल खड़े किए हैं। उन्होंने ट्वीट कर लिखा, “केंद्र में बीजेपी सरकार के 5 साल हो रहे हैं. राजस्थान में 5 साल बीजेपी गुजारकर गई. हरियाणा में खट्टर के भी साढ़े 4 साल हो गए. वाड्रा को जेल भेजने के चुनावी वादे इतने सालों से कहां दफ्न थे? उन्हें तो 4 साल पहले ही जेल में होना चाहिए था लेकिन अब चुनाव के समय ही ये सब क्यों”?

वहीं दूसरे ट्वीट में अजीत अंजुम ने लिखा, “सरकार बनते ही वाड्रा को जेल भेजने के बारे में बीजेपी के सारे बड़े नेताओं के 4 -5 साल पुराने बयान गूगल करिए और उनसे पूछिए कि इतने सालों से वाड्रा खुले क्यों घूम रहे थे. सलाखों के पीछे अब तक क्यों नहीं भेजा? सारी फाइलें 5 साल बाद ही खुल रही है”?

ग़ौरतलब है कि, 2014 लोकसभा चुनाव के दौरान नरेंद्र मोदी अपनी हर रैली में रॉबर्ड वाड्रा का ज़िक्र करते थे और कहते थे कि, कांग्रेस के दामाद के पास इतना पैसा कहां से आया? वह दावा किया करते थे कि उनकी सरकार बनेगी तो वाड्रा जेल के अंदर होंगे। उनकी सरकार बनी भी और उसने अपना कार्यकाल भी लगभग पूरा किया। पर रॉबर्ट वाड्रा का कुछ नहीं हुआ।

और जब अब फिर से लोकसभा चुनाव सर पर है। ऐसी सम्भावना है कि चुनाव आयोग अगले महीने के पहले हफ़्ते में चुनाव की तारीख़ो की घोषणा कर सकता है तो ऐसे में ये आरोप लगना लाज़मी है कि बीजेपी चुनावी फायदे के लिए फिर से रॉबर्ट वाड्रा का इस्तेमाल कर रही है।

क्या है मामला?

यह मामला लंदन के 12 ब्रायंस्टन स्क्वायर पर स्थित एक संपत्ति की खरीद में धन शोधन के आरोपों से जुड़ा है। इसे 19 लाख पाउंड में खरीदा गया था और कथित तौर पर इसका स्वामित्व कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी के पति रॉबर्ट वाड्रा के पास है।

रॉबर्ट वाड्रा ने इस मामले में अग्रिम जमानत के लिए दिल्ली की अदालत की दरवाजा खटखटाया था। अदालत ने उन्हें निर्देश दिया था कि वह केंद्रीय जांच एजेंसी से जांच में सहयोग करें और ईडी को उनसे पूछताछ करने के निर्देश दिए थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here