लोकसभा चुनाव से पहले कांग्रेस ने प्रियंका गांधी को सक्रिय तौर से राजनीति में उतारकर एक बड़ा धमाका कर दिया है। प्रियंका गांधी को पार्टी का महासचिव बनाए जाने के साथ ही पूर्वी उत्तर प्रदेश की कमान भी सौंपी गई है, जिससे कांग्रेस नेताओं से लेकर कार्यकर्ताओं तक में ज़बरदस्त उत्साह है।

कांग्रेस का कहना है कि पार्टी के इस कदम से सत्तारूढ़ बीजेपी को कड़ी चुनौती मिलेगी। कांग्रेस नेता रेणुका चौधरी का कहना है कि प्रियंका गांधी के आने से बीजेपी परेशान हो गई है। उनकी टेंशन का अलार्म बजने लगा है।

प्रियंका गांधी की एंट्री को पात्रा ने बताया परिवारवाद, अलका बोलीं- लगता है कांग्रेस का तीर 56 इंच के सीने पर जा लगा है

रेणुका चौधरी ने न्यूज़ एजेंसी एएनआई से बात करते हुए कहा, “यह राहुल जी का एक शानदार कदम है, बीजेपी परेशान है, इसपर कोई आश्चर्य नहीं होना चाहिए, यह फैसला कुछ ऐसा है जो हमेशा के लिए अनुमानित है, और मुझे लगता है कि हम सभी को चुनाव से पहले और ज़्यादा आश्चर्य का इंतेज़ार करना चाहिए”।

वहीं प्रियंका की एंट्री को बीजेपी ने वंशवाद बताया है। बीजेपी के प्रवक्ता जीवीएल नरसिम्हा राव ने कहा कि चुनाव से पहले कांग्रेस ‘प्रियंका कार्ड’ चला रही है। यह पार्टी परिवारवाद से उबर नहीं पाई है। हालांकि बीजेपी की ओर से कहा गया है कि प्रियंका का यूपी में कोई असर नहीं होगा।

कांग्रेस ने प्रियंका गांधी को बनाया ‘पूर्वी यूपी’ का प्रभारी, क्या इसलिए वाराणसी छोड़ भाग रहे हैं मोदी?

इसपर रेणुका चौधरी ने कहा कि कांग्रेस पर वंशवाद का आरोप लगाया जा रहा है। बीजेपी के नेता अपने गिरेबान में नहीं झांकते। प्रियंका के चुनाव लड़ने के सवाल पर रेणुका ने कहा कि चुनाव लड़ने का फैसला प्रियंका ही करेंगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here