अमेरिका की एक पत्रिका ने मोदी सरकार के उस दावे को ग़लत बताया है, जिसमें कहा गया था कि भारतीय वायु सेना ने 27 फरवरी को एयर स्ट्राइक के दौरान पाकिस्तान के एक लड़ाकू विमान F-16 को मार गिराया था।

अमेरिकी पत्रिका ‘फॉरेन पॉलिसी’ ने एक रिपोर्ट में आनम अमेरिकी रक्षाधिकारियों के हवाले से दावा किया है कि भारत का एफ-16 विमान मार गिराने का दावा गलत है।

गुरुवार को प्रकाशित रिपोर्ट में कहा गया है कि पाकिस्तान के पास जितने F-16 लड़ाकू विमान थे उनमें से कोई भी लापता नहीं है और उनमें से किसी को भी कोई नुकसान नहीं पहुंचा है।

फॉरेन पॉलिसी ने कहा है कि ये सूचना उन्हें अमेरिका के दो रक्षा अधिकारियों के हवाले से मिली है जो इस मामले से सीधे जुड़े हैं। बता दें कि इससे पहले पाकिस्तान ने भी भारत द्वारा F-16 लड़ाकू विमान को मार गिराए जाने के दावों का खंडन किया था।

रिपोर्टः भारत ने नहीं गिराया पाकिस्तान का F-16 विमान, क्या मोदी ने ‘वोट’ के लिए झूठ बोला?

अमेरिकी पत्रिका द्वारा किए गए इस ख़ुलासे के बाद नेशनल कांफ्रेंस के अध्यक्ष फारूक अब्दुल्ला ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर हमला बोला है। उन्होंने कहा, ‘अमेरिका ने F-16 लड़ाकू विमानों की गिनती की, गिनती में कोई विमान लापता नहीं है। झूठ की भी बुनियाद होती है मोदी जी, कब तक झूठ बोलते रहोगे? क्यों झूठ बोलते हो?’

ग़ौरतलब है कि 26 फरवरी को बालाकोट पर भारत के एयर स्ट्राइक के अगले दिन पाकिस्तानी लड़ाकू विमानों ने भारतीय एयरस्पेस में घुसने की नाकाम कोशिश की थी। इस दौरान भारत की वायुसेना और पाकिस्तानी एयरफोर्स के बीच भिड़ंत हुई थी।

पाक का F-16 सलामत है, बालाकोट में सिर्फ कौआ मरा था, मोदीजी क्या अब भी 56 इंच को थपथपाना है?

भारत ने दावा किया था कि 27 फरवरी को हवाई संघर्ष में भारतीय वायुसेना के पायलट अभिनंदन वर्थमान ने उस पाकिस्तानी लड़ाकू विमान को मार गिराया, जो भारतीय सैन्य ठिकानों को निशाना बनाने की कोशिश कर रहा था। इसी संघर्ष में अभिनंदन के विमान पर भी हमला हुआ और उन्हें विमान से इंजेक्ट करना पड़ा था।

भारत सरकार और वायु सेनी की तरफ से हवाई संघर्ष में पाकिस्तान का एफ-16 को मार गिराने की बात कही गई थी। सबूत के तौर पर भारतीय सेना ने AMRAAM मिसाइल के टुकड़े दिखाए थे, जिन्हें पाकिस्तानी एफ-16 विमान से दागा जाता है। हालांकि अब अमेरिका ने भारत के इन दावों को खारिज कर दिया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here