Pc-ANI

शायद हमारे समुदाय के लोग मुख्यधारा में आने के लिए कोई सार्थक प्रयास नहीं करते हैं। मुझे लगता है कि मेरी सफलता के बाद समाज में बदलाव आएगा। वहीं आरक्षण के सवाल पर कहा कि अगर दूसरों को आरक्षण दिया जा रहा है, तो हमें क्यों नहीं?

ऐसा कहना है मध्यप्रदेश में पहली सरकारी नौकरी हासिल की है उन्हें सामाजिक न्याय और विकलांग कल्याण विभाग के निदेशक के निजी सचिव के रूप में नियुक्त किया गया है। भारतीय समाज में गाली बन चुके समाज ट्रांसजेंडरों के लिए संजना एक उम्मीद किरण बनकर सामने आई है। उनकी नियुक्ति सभी राज्य सरकारों के लिए एक नजीर बनेगी।

36 साल की अब अधिकारिक रूप से कृष्ण गोपाल तिवारी का निजी सचिव नियुक्त है। उन्होंने 1 मार्च को अपना पदभार संभाला है। मीडिया रिपोर्ट्स की माने तो उन्हें जिला कानूनी प्राधिकरण का कानूनी स्वयंसेवक और लोक अदालत का सदस्य भी बनाया गया है, जहाँ वह न्यायाधीश के साथ लंबित मामलों की सुनवाई करेगी।

OBC आरक्षण 14% से 27% हुआ, 15 साल में जो शिवराज नहीं कर पाए वो कमलनाथ ने किया

वही अगर संजना की बात कर तो उन्होंने पहले राजस्थान की गंगा राजस्थान पुलिस में भर्ती होने वाली देश की पहली ट्रांसजेंडर बनी थीं। ऐसी ही बंगाल की ट्रांसजेंडर अत्रीकर मार्च 2018 में यूपीएससी की सिविल सर्विस प्रीलिम्स की परीक्षा में शामिल हुई थी।

उन्होंने कहा हो सकता है हमारा समुदाय मुख्यधारा में आने के लिए ज्यादा हिम्मत नहीं दिखाता. मुझे लगता अगर पहल की जाये तो समाज में बदलाव आएगा. मेरे लिए ये एक अच्छा प्लेटफार्म है जहां मैं साबित सकू की अगर हमारे समुदाय को मौका मिले हम अच्छा काम कर सकते है।

गौरतलब हो कि इससे पहले कांग्रेस पार्टी ने अप्सरा रेड्डी को ऑल इंडिया महिला कांग्रेस का राष्ट्रीय महासचिव नियुक्त किया है। वह ऐसी पहली ट्रांसजेंडर हैं जो महिला कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव होंगी। इस फ़ैसले की घोषणा खुद राहुल गांधी और ऑल इंडिया महिला कांग्रेस की अध्यक्ष और लोकसभा सांसद सुष्मिता देव की मौजूदगी में की गई थी।

RJD ने दिया नया नारा- ‘आरक्षण बढ़ाओ, बेरोज़गारी हटाओ’, तेजस्वी बोले- 90% हो आरक्षण

बता दें कि पिछले साल दिसम्बर 2018 में शीतकालीन सत्र के दौरान लोकसभा में ट्रांसजेंडर्स के अधिकारों से जुड़ा एक अहम बिल पारित किया गया था। यह बिल ट्रांसजेंडर्स के अधिकारों को संरक्षित करता है जिस पर सदन ने मुहर लगाई थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here