केंद्र में सत्तारूढ़ मोदी सरकार की मेहरबानी से रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड की कमाई जोरों शोरों से बढ़ रही है।

लॉकडाउन के दौरान जहां इस देश की जीडीपी में भारी गिरावट देखने को मिल रही है। वही रिलायंस ने 200 अरब डॉलर यानी कि लगभग 14,69,000 करोड़ रुपये के मार्केट कैपिटलाइजेशन को पार कर लिया है।

दुनिया भर में आई कोरोना संक्रमण की आपदा के दौरान रिलायंस ऐसी कंपनी साबित हुई है। जो शेयर मार्केट में तेजी से मुनाफा कमा रही है।

बताया जाता है कि रिलायंस के शेयरों में 7 फ़ीसदी की उछाल देखने को मिली है। रिलायंस का शेयर प्राइस मुंबई स्टॉक एक्सचेंज में इस वक्त 2,343 के लेवल पर पहुंच चुका है। वहीँ एनएसई में भी रिलायंस के शेयर ने 2,319 रुपये के लेवल को हासिल किया है।

मुकेश अंबानी के नेतृत्व में चल रही रिलायंस इंडस्ट्रीज ने मार्केट कैपिटलाइजेशन में वो मुकाम हासिल किया है। वह आज तक भारत की किसी कंपनी द्वारा हासिल नहीं किया गया।

दरअसल शेयर मार्केट में रिलायंस रिटेल में अमेज़न को हिस्सेदारी दी जाने की खबरों के चलते यह उछाल देखने को मिला है। रिलायंस जियो के बाद अब मुकेश अंबानी रिलायंस रिटेल के जरिए बड़े पैमाने पर निवेश हासिल करने की तैयारी में जुटे हैं।

इस खबर को शेयर करते हुए पत्रकार मुकेश केजरीवाल ने लिखा कि “RIL पहली हिंदुस्तानी कंपनी बनी जिसके शेयर 200 अरब डॉलर के हुए। उधर, लॉकडाउन में तुम डूबे ठीक उसी समय इसने उठना शुरू किया। 164% बढ़ी! आपदा होगी तुम्हारी, मुकेश भाई के लिए तो अवसर।”

गौरतलब है कि कोरोना के चलते देश में लगे लॉकडाउन की वजह से जहां लाखों लोग बेरोजगार हुए हैं, अर्थव्यवस्था अपने निचले स्तर पर आ पहुंची है।

वही मोदी सरकार के करीबीमाने जाने वाले मुकेश अंबानी की कंपनी पैसों में खेल रही है। बल्कि कंपनी की कमाई में पहले से भी ज्यादा बड़े स्तर पर इजाफा हो रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here