मोदी सरकार के सवर्ण आरक्षण देने के पीछे का ख़तरनाक मंसूबा सामने आ गया है। दलित नेता और विधायक जिग्नेश मेवानी के मुताबिक़ बीजेपी का असल मक़सद एससी-एसटी और ओबीसी आरक्षण को भी ख़त्म कर देना है।

जिग्नेश मेवानी ने ट्वीट कर लिखा-

RSS के लोगों से बात हुई-

भाजपा 10% ग़रीबों को आरक्षण क्यों दे रही है? जो पता चला वो बेहद ख़तरनाक है। RSS जाति आरक्षण के हमेशा से ख़िलाफ़ रही है।

सवर्णों को 10% आरक्षण मिला तो हम दलित-पिछड़े भी 90% लेकर रहेंगे, देश में बहुजन क्रांति ला देंगे : RJD

अभी पहले चरण में संविधान संशोधन करके आर्थिक आधार शुरू करेंगे। फिर SC, ST और OBC का सारा आरक्षण ख़त्म करके केवल आर्थिक आधार रखेंगे”

जिग्नेश मेवाणी की ये बात बेहद गम्भीर है और अगर ऐसा है तो मोदी सरकार के इरादे कतई ठीक नहीं हैं। ऐसा है तो मोदी सरकार वही करने जा रही है जो आरएसएस देश का हमेशा से एजेंडा रहा है। यानी सबको आरक्षण दो। या आरक्षण ख़त्म कर दो।

खुद को गरीब का ‘बेटा’ बताने वाले PM मोदी क्या आत्महत्या करने वाले किसी ‘किसान’ के घर गए हैं : जिग्नेश मेवाणी

जिग्नेश मेवाणी आगे लिखते हैं कि-

सवर्ण समुदाय के गरीबों को लाभ मिले उस बात की तकलीफ हरगिज नहीं, लेकिन जिनकी नियत हमेशा से संविधान और आरक्षण विरोधी रही है उन भाजपावालों का यह पैंतरा बडा खरनाक लग रहा है। कल को बाबा साहब और संविधान निर्माताओं ने जिस तर्ज़ पर आरक्षण दिया उसी को खत्म न किया जाए – असली खतरा तो यही है।

जिग्नेश का कहना है कि, भाजपाइयों सवर्ण आरक्षण का ये पैंतरा बड़ा ख़तरनाक मालूम पड़ रहा है। इसके पीछे का मक़सद दलित, वंचित, पिछड़े समाज का आरक्षण ख़त्म करना है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here