यूपी में भारी जीत का दावा करने वाली BJP नेताओं के चेहरे की हवाईयां इन दिनों उड़ी हुई हैं। कारण है लाख जतन के बाद भी रैलियों में लोगों का नहीं पहुंचना। बीजेपी के प्रति लोगों में नाराजगी का यह आलम है कि छोटे-छोटे हॉल और छोटी जन सभाओं में भी आधी से अधिक कुर्सियां खाली रह जा रही हैं।

इस प्रकार के एक फ्लॉप रैली का सामना BJP के फायर ब्राण्ड नेता सीएम योगी आदित्यनाथ(Yogi Adityanath) को मंगलवार को बनारस में करना पड़ा। एक हफ्ते में यह दूसरी बार हुआ है जब वाराणसी में सीएम योगी आदित्यनाथ की रैली फ्लॉप शो रह गई।

युवाओं की जगह पहुंचे बुजुर्ग

पार्टी में युवाओं को जोड़ने के लिए BJP ने मंगलवार को नव मतदाता सम्मेलन किया, लेकिन इस रैली में आधी से अधिक कुर्सियां खाली थी और जो पहुंचे भी थे वे भी बीजेपी के बुजुर्ग कार्यकर्ता थे। पिपलानी कटरा स्थित सरोजा पैलेज में आयोजित योगी के कार्यक्रम में गिनती के ही युवा पहुंचे थे। नतीजा ये रहा कि जैसे-तैसे करके सभागार को आधा भरा गया।

BJP की फ्लॉप रैली! वाराणसी में योगी और मेरठ में मोदी की सभा में मैदान रहा खाली, हवा बदल रही है?

वहीं आधी कुर्सियों खाली देख कार्यक्रम के संयोजकों के पसीने छूटने लगे। सीएम के सामने बेइज्जती होते देख संयोजकों ने आनन-फानन में बीजेपी कार्यकर्ताओं को बुलाना शुरू किया। जिसके बाद युवाओं की जगह बीजेपी के बुजुर्ग कार्यकर्ताओं ने ली। सभागार की तस्वीरें देख सीएम भी नाखुश दिखे। जिसको लेकर सभागार में तरह-तरह की चर्चाएं चलती रहीं।

पीएम के गढ़ में फ्लॉप रैली से परेशान हैं दिग्गज

वाराणसी को बीजेपी का सबसे मजबूत गढ़ माना जाता है। पीएम नरेंद्र मोदी खुद यहां से सांसद हैं। इसके बावजूद शहर के अंदर बीजेपी का हाल देख राजनीतिक जानकार भी हैरान हैं। इसके पहले योगी मथुरा में सांसद हेमा मालिनी के नामांकन में गये थे और इस दौरान वहां भी एक जनसभा का आयोजन किया गया था जिसमें में आधी से अधिक कुर्सियां खाली थीं और इस रैली की फोटो कई अखबारों में सुर्खियां बनी थीं। इसके अलावा गाज़ियाबाद व 26 मार्च को वाराणसी की विजय संकल्प सभा में भी आधी से ज़्यादा कुर्सियां खाली थीं।

मोदी लहर हुई खत्म

बीजेपी की रैलियों में भीड़ नहीं जुटने पर राजनीति के जानकारों का कहना है कि साल 2014 के लोकसभा चुनाव की तुलना में इस बार मोदी लहर दिखाई नहीं दे रही है जिसके कारण छोटे-छोटे हॉल और छोटी जन सभाओं में कुर्सियां खाली रह जा रहीं हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here