उत्तर प्रदेश में लॉकडाउन के चलते पलायन कर रहे मज़दूरों की सड़क हादसों में मौत का सिलसिला जारी है। ताज़ा मामला औरैया से सामने आया है। यहां एक सड़क हादसे में घर लौट रहे 24 मजदूरों की मौत हो गई, जबकि 35 मज़दूर गंभीर रूप से घायल हो गए।

हादसा शहर कोतवाली क्षेत्र के मिहौली नेशनल हाईवे पर हुआ। बताया जा रहा है कि दिल्ली से अपने घरों को लौट रहे मज़दूरों की एक टोली यहां एक चाय की दुकान पर खड़ी थी। तभी उनके ऊपर एक चूने से लदा एक ट्रालर पलट गया। ट्रालर मज़दूरों पर एक ट्रक की टक्कर से पलटा।

औरैया के डीएम अभिषेक सिंह ने बताया कि यह हादसा सुबह तकरीबन साढ़े तीन बजे हुआ। इस हादसे में अब तक 24 लोगों की मौत हुई है। कई लोग घायल हैं। घायलों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है। इनमें से ज्यादातर मजदूर बिहार, झारखंड और पश्चिम बंगाल के रहने वाले थे।

औरैया की मुख्य चिकित्साधिकारी अर्चना श्रीवास्तव ने बताया कि फिलहाल घायल जिला अस्पताल में भर्ती हैं, जिनमें से 15 लोगों की हालत गंभीर है, उन्हें सैफई पीजीआई रेफर किया गया है।

बता दें कि दो दिन पहले ही मुजफ्फरनगर में एक भीषण सड़क हादसे में 14 मज़दूरों की मौत हो गई थी। इन मज़दूरों को उत्तर प्रदेश परिवहन की बस ने कुचल दिया था। ये मज़दूर पंजाब से बिहार के गोपालगंज पैदल चलकर जा रहे थे। मज़दूरों की सड़क हादसों में हो रही मौत को लेकर कई सवाल उठ रहे हैं। पूछा जा रहा है कि सरकार आखिर रोज़ी रोटी के संकट से जूझ रहे मज़दूरों के लिए कोई व्यवस्था क्यों नहीं कर रही, जिसके चलते उन्हें अपनी जान गंवानी पड़ रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here