पश्चिम बंगाल संकट पर कांग्रेस प्रेसिडेंट राहुल गाँधी ने सीएम ममता बनर्जी के साथ खड़े होने का ऐलान किया है। कांग्रेस अध्यक्ष ने ट्वीट करते हुए लिखा-

रात में ममता दीदी से बात हुई। मैंने उनसे कहा है कि हम आपके साथ कंधे से कंधा मिलाकर खड़े हैं। बंगाल में जो कुछ हो रहा है वो मिस्टर मोदी और बीजेपी द्वारा भारत के संस्थानों पर बेरहम प्रहार है।

पूरा विपक्ष साथ खड़े होकर इन फांसीवादी ताक़तों को हराएगा

दरअसल-

पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी और मोदी सरकार आमने-सामने हैं। रविवार को कोलकाता के पुलिस कमिश्नर राजीव कुमार के यहाँ शारदा और रोज वैली पोंजी घोटालों के सिलसिले में राजीव कुमार के यहाँ बग़ैर वारंट छापेमारी करने पहुँची, जिसके विरोध में सीएम ममता बनर्जी रविवार रात से धरने पर बैठी हैं।

उन्होंने बीजेपी आलाकमान पर घटिया क़िस्म की राजनीतिक प्रतिशोध लेने की बात कही है। ममता बनर्जी ने सीधे-सीधे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह, और एनएसए अजीत डोवाल पर निशाना साधा है।

ममता की रैली में विपक्ष हुआ एकजुट, मनोज झा बोले- BJP से ज्यादा ‘गोदी मीडिया’ बेचैन है

पश्चिम बंगाल सीएम का कहना है कि, 19 तारीख़ को यहाँ आयोजित विपक्ष की महारैली के बाद से ही नरेंद्र मोदी और अमित शाह तख़्तापलट करने की कोशिश कर रहे हैं।

ममता बनर्जी ने कहा कि, मेरे घर पर भी सीबीआई भेज रहे हैं। मैं दुःखी हूँ, लेकिन मैं डरने वाली नहीं हूँ। मैं जानती हूँ कि देश के लोग मेरा समर्थन करेंगे। उन्होंने साफ़ शब्दों में कहा- इस सरकार के ख़िलाफ़ एकजुट होना होगा, मोदी हटाओ-देश बचाओ।

पश्चिम बंगाल सीएम ने सवालिया लहज़े में कहा कि, CBI कोलकाता पुलिस के यहाँ बग़ैर वारंट आ जाती है। इतनी हिम्मत कैसे हुई?

ममता बनर्जी का लगातार धरने पर बैठे रहना मोदी सरकार के लिए परेशानी का सबब बन गया है। उन्हें पूरे विपक्ष का ज़बरदस्त सहयोग मिल रहा है। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गाँधी, उमर अब्दुल्लाह, शरद यादव, तेजस्वी यादव, लालू यादव, अखिलेश यादव, फ़ारूक़ अब्दुल्लाह सरीख़े नेताओं ने ममता बनर्जी का साथ देते हुए मोदी सरकार की कड़ी आलोचना की है। मुमकिन है कि आज कई बड़े नेता कोलकाता जा सकते हैं ममता बनर्जी का समर्थन करने।

वहीं इस पूरे मामले में सीबीआई का ये कहना है कि, चिटफंड से जुड़े घोटालों की जाँच के लिए साल 2011 में पश्चिम बंगाल सरकार ने एसआईटी बनाई थी। जिसमें आईपीएस राजीव शामिल थे। उस जाँच के तमाम सबूत ग़ायब कर दिए गए। सीबीआई उसी सिलसिले में राजीव कुमार से पूछताछ करने आई थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here