देश की राजधानी में भले ही जबरदस्त ठंड पड़ रही हो मगर विपक्षी दलों ने राजनैतिक सरगर्मियां बढ़ा रखी है। मीडिया के हवाले से जैसे ही ये ख़बर फैली की उत्तर प्रदेश में समाजवादी पार्टी और बहुजन समाज पार्टी के सीटों का बटवारा हो चुका है वैसे ही लखनऊ में अवैध खनन के मामले में सीबीआई ने आईएएस चंद्रकला के घर छापेमारी की।

जिसके बाद ख़बर आई कि अब अवैध खनन के मामले में सीबीआई द्वारा एसपी अध्यक्ष और पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव से पूछताछ हो सकती है।

IAS बी. चंद्रकला की संपत्ति दोगुना होने पर छापा मारने वाली CBI अमित शाह के बेटे की संपत्ति पर चुप क्यों?

अब समाजवादी पार्टी सांसद प्रोफसर रामगोपाल यादव ने प्रेस कांफ्रेंस करते हुए बीजेपी पर जमकर हमला बोला है। एसपी सांसद ने कहा कि अवैध खनन मामले में अखिलेश का नाम नहीं है। बीजेपी ने तोते के साथ गठबंधन किया है।

उन्होंने कहा कि ये पासा इनके उलटे पड़ेगा, प्रधानमंत्री को बनारस छोड़कर भागना पड़ेगा और अगर समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ता बीजेपी के खिलाफ सड़कों पर उतर गए तो इनका काम करना मुश्किल हो जायेगा।

यादव ने कहा कि इसलिए मैं ये चेतवानी देना चाहता हूँ इस तरह की हरकत से मोदी सरकार बाज आएं।  

बता दें कि एसपी सरकार के शासनकाल में साल 2012 से 2016 के बीच राज्य में कथित खनन घोटाले मामले में सीबीआई ने शनिवार को लखनऊ में आईएएस अधिकारी बी. चंद्रकला के घर पर छापा मारा था।

CMIE रिपोर्ट: 1.1 करोड़ लोगों की नौकरी गई, कांग्रेस बोली- इसीलिए आंकड़े छुपा रहे थे मोदी

सीबीआई ने बुंदेलखण्ड में अवैध खनन के मामले में इलाहाबाद उच्च न्यायालय के आदेश पर चंद्रकला समेत 11 लोगों पर मुकदमा दर्ज किया।

साल 2012-13 में खनन विभाग तत्कालीन मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के पास था। लिहाजा माना जा रहा है कि सीबीआई इस मामले में उनसे भी पूछताछ कर सकती है।  

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here