tejashwi yadav
Tejashwi Yadav

कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के मजदूरों का रेल किराया वहन करने के ऐलान के बाद अब राजद (राष्ट्रीय जनता दल) मजदूरों के लिए आगे आया है। राजद अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव की गैरमौजूदगी में तेजस्वी यादव ने ऐलान किया है कि, “राष्ट्रीय जनता दल शुरुआती तौर पर बिहार सरकार को अपनी तरफ़ से 50 ट्रेन देने को तैयार है।”

इस बयान में आगे कहा गया है कि, “हम मज़दूरों की तरफ़ से इन 50 रेलगाड़ियों का किराया असमर्थ बिहार सरकार को देंगे। सरकार आगामी 5 दिनों में ट्रेनों का बंदोबस्त करें, पार्टी इसका किराया तुरंत सरकार के खाते में ट्रांसफ़र करेगी।”

इससे पहले आरजेडी ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को देश के कोने-कोने से छात्रों को लाने के लिए अपनी तरफ से बसें मुहैया कराने का ऐलान कर चुकी है। नीतीश कुमार और बीजेपी की बिहार सरकार ने कोटा में फंसे छात्रों को बिहार लाने के लिए इनकार कर दिया था। इसीलिए तेजस्वी यादव ने नीतीश सरकार को ‘असमर्थ’ सरकार कहा है।

बता दें कि, मोदी सरकार ने शहरों में फंसे मजदूरों को उनके रेल से घर भेजने का निर्णय लिया है। इसके लिए ट्रेन का माध्यम इस्तेमाल किया जाएगा। इस संकट की घड़ी में मोदी सरकार ने मजदूरों से ट्रेन के टिकट के अलावा 50 रुपये अतिरिक्त वसूलेगी। इसीलिए मजदूरों के पक्ष और उसको ध्यान में रखते हुए कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने कोरोनावायरस के बढ़ते मामलों के बीच सोमवार को ऐलान किया कि देशभर में फंसे मजदूरों के घर वापस जाने के लिए रेलयात्रा का खर्च कांग्रेस पार्टी उठाएगी।

कांग्रेस पार्टी ने ट्वीट करते हुए लिखा है, “भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस ने यह निर्णय लिया है कि प्रदेश कांग्रेस कमेटी की हर इकाई हर जरूरतमंद श्रमिक व कामगार के घर लौटने की रेल यात्रा का टिकट खर्च वहन करेगी व इस बारे जरूरी कदम उठाएगी।” पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी ने बाकायदा अपना बयान जारी किया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here