anil deshmukh
Anil Deshmukh

महाराष्ट्र के गृहमंत्री ने आज पालघर के आरोपियों के नाम जारी किये है उस सूची में कोई मुस्लिम नहीं है।गृहमंत्री ने कहा कि सीआईडी के एक विशेष आईजी स्तर के अधिकारी इस मामले की जांच कर रहे हैं।

मगर मैं यह बताना चाहूंगा कि पुलिस ने क्राइम के 8 घंटे के भीतर 101 लोगों को गिरफ्तार किया। हम आज व्हाट्सएप्प के जरिए आरोपियों के नाम जारी कर रहे हैं, उस सूची में कोई मुस्लिम नहीं है।

सोशल मीडिया पर कई पोस्ट में इस घटना को सांप्रदायिक रंग देने की कोशिश की गई कि साधुओं की हत्या करने वाले मुस्लिम हैं, क्योंकि वीडियो में ‘शोएब बस’ की आवाज सुनाई दे रही है।

मगर महाराष्ट्र सरकार ने इन दावों को खारिज किया हैऔर कहा कि वीडियो में ‘शोएब बस’ नहीं, बल्कि ‘ओए बस’ बोला जा रहा है। उन्होंने कहा कि वीडियो में एक आवाज सुनाई दी ‘ओए बस’, मगर कुछ लोगों ने इसे ‘शोएब बस’ समझ लिया।

ओए बस’ को ‘शोएब बस’ कैसे सुना जाता है यदि आप यह जानना चाहते है तो जी न्यूज़ की खबर का यह स्क्रीन शॉट देखिए इसकी भाषा पढ़िए।

मै हमेशा से कहता हूँ कि देश का सबसे बड़ा दुश्मन यदि कोई है तो इस तरह की भाषा का इस्तेमाल करने वाला मीडिया है जब तक ऐसा मीडिया रहेगा लोग ओए बस’ को ‘शोएब बस’ सुनते रहेंगे और एक न एक दिन ऐसी भयंकर मार काट मचेगी जिसकी कोई मिसाल दुनिया में नहीं होगी

(ये लेख गिरीश मालवीय के फेसबुक वॉल से साभार लिया गया है)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here