साल 2015 में गौतमबुद्ध नगर जिले के दादरी में गोमांस रखने के ‘शक’ में अखलाक की मॉब लिंचिंग हुई जिससे उसकी मौत हो गई थी। अखलाख दादरी के बिसाहड़ा गांव के रहने वाले थे। अब तीन साल बाद बिसाहड़ा एक बार फिर सुर्ख़ियों में है। रविवार को उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बिसाहड़ा में रैली की।

इस रैली में सबसे आगे की पंक्तियों में अखलाक हत्याकांड का मुख्य आरोपी विशाल सिंह बैठा हुआ था। सोशल मीडिया पर वायरल वीडियो में साफ देखा जा सकता है कि विशाल किस तरह से योगी की रैली में जोश के साथ नारे लगा रहा है। यही नहीं विशाल के साथ-साथ चार लोग भी नारे लगाते दिखाई दे रहे हैं। विशाल सिंह इस समय जमानत पर है।

विशाल सिंह बीजेपी के स्थानीय नेता संजय राणा का बेटा है। रैली में विशाल अपने चार साथियों के साथ योगी-योगी के नारे के साथ-साथ वंदे मातरम के नारे लगा रहा है। जमानत पर रिहा विशाल इस तरह से मुख्यमंत्री की सभा में नारे लगाते सबको हैरत में डाल रहा है! कि ये शख्स क्यों बीजेपी नेता योगी की सभा में ही इस तरह नारे लगा रहा है?

बता दें कि मामला 2015 के बकरी ईद के बाद का है। जब गौमांस रखने के अफवाह के आधार पर विशाल सिंह और उसके साथ मौजूद भीड़ ने अखलाख के घर पर हमला कर दिया था। इस हमले में भीड़ ने 55 साल के अखलाख को घर से निकालकर उसकी हत्या कर दी। इस घटना के चलते अखलाख के परिवार को गांव छोड़कर पलायन करना पड़ा था।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इस रैली में अखलाख के बारे में बात न करते हुए उल्टा तत्कालीन अखिलेश यादव सरकार को ही कोसने लगे। उन्होंने कहा कि, “कितने शर्म की बात है कि समाजवादी सरकार ने तब भावनाओं को दबाने की कोशिश की और मैं कह सकता हूं कि हमारी सरकार बांटे ही हमने अवैध बुचाडखानों को बंद कराया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here