सीबीआई विवाद में मोदी सरकार को तगड़ा झटका लगा है। देश की सबसे बड़ी अदालत सुप्रीम कोर्ट ने सीबीआई निदेशक आलोक वर्मा को छुट्टी पर भेजने के केंद्र सरकार के फ़ैसले को रद्द करते हुए आलोक वर्मा को फिर से सीबीआई के निदेशक के तौर पर बहाल कर दिया है।

सुप्रीम कोर्ट ने अपने फ़ैसले में कहा-

मोदी सरकार पर कटाक्ष करते हुए सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि, सीबीआई निदेशक को हटाया जाने वाला मामला भारत के मुख्य न्यायाधीश, प्रधानमंत्री, और विपक्ष के नेता के पास भेजा जाना चाहिए था।

आलोक वर्मा को बतौर सीबीआई निदेशक बहाल किया जाता है। हालांकि वर्मा बड़े नीतिगत फ़ैसले नहीं ले पाएंगे। (ग़ौरतलब है कि केंद्र सरकार ने आलोक वर्मा को ख़ुद ही छुट्टी पर भेज दिया था।

CBI निदेशक आलोक वर्मा ईमानदार व्यक्ति हैं, उम्मीद है ‘सुप्रीम कोर्ट’ उनके साथ न्याय करेगा : सुब्रमण्यम स्वामी

जिसको लेकर कोर्ट ने कहा कि, छुट्टी पर भेजने वाले मामले को CJI, और विपक्ष के नेता के सामने रखना चाहिए था।

छुट्टी पर भेजे जाने के पीछे सरकार का तर्क-

सरकार की ओर से सीबीआई निदेशक आलोक वर्मा को छुट्टी पर भेजे जाने के पीछे अटॉर्नी जनरल केके वेणुगोपाल ने कोर्ट में कहा था कि, वर्मा और आस्थाना के बीच टकराव है।

जिसकी वजह से सीबीआई हंसी का पात्र बन रही है। केंद्र सरकार के पास ये अधिकार है कि वो सीबीआई निदेशक से सारे अधिकार लेकर उनको छुट्टी पर भेज सके।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here