मोदी-शाह की जोड़ी का बीजेपी पर एकतरफ़ा क़ब्ज़ा RSS को ज़रा भी नहीं भाता है। शायद यही वजह है कि पीएम मोदी के काम के ख़िलाफ़ आए दिन उनकी ही पार्टी के नेता और संघ के नेता टिप्पणियाँ कर देते हैं।

केंद्रीय सड़क परिवहन मंत्री नितिन गडकरी इस काम के लिए बहुत पहले से लगे हुए हैं। कभी वो कहते हैं कि मोदी सरकार में नौकरियाँ नहीं हैं। कभी कहते हैं लोकसभा चुनाव के दौरान हमसे कहा गया था कि ख़ूब झूठे वादे करो, जब जीतेंगे तब देखा जाएगा।

माना जा रहा है कि RSS गडकरी को पीएम मोदी का विकल्प बनाना चाहती है। इसलिए उनके पक्ष में लॉबिंग ज़ोरो से चल रही है।

नितिन गडकरी ने की ‘नेहरु’ की तारीफ, कहा- मुझे वो पसंद है, क्या मोदी के खिलाफ हो गए हैं गडकरी?

अब एनडीए गठबंधन का हिस्सा शिवसेना ने साफ़ कह दिया है कि, अगर नितिन गडकरी प्रधानमंत्री बनते हैं तो शिवसेना उनका पूरा समर्थन करेगी।

शिवसेना नेता संजय राउत के मुताबिक़ 2019 में होने जा रहे आम चुनाव के नतीजे त्रिशंकु होंगे। और किसी पार्टी को बहुमत नहीं मिलेगा। राउत का कहना है कि अगर ऐसा हुआ तो पीएम मोदी नहीं बल्कि नितिन गडकरी पीएम पद के प्रबल दावेदार बनकर उभरेंगे और अगर ऐसा हुआ तो शिवसेना गडकरी का पूरा सपोर्ट करेगी।

शिवसेना-बीजेपी के तल्ख़ रिश्ते-

बीजेपी के साथ गठबंधन में होने के बावजूद शिवसेना लगातार पीएम मोदी पर हमलावार रही है। राफ़ेल मामले में शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे कह चुके हैं कि चौकीदार चोर है। राफ़ेल पर कांग्रेस का समर्थन करते हुए पार्टी ने भी जेपीसी जाँच की माँग की थी।

बेरोज़गारी पर शिवसेना प्रधानमंत्री को घेरती रहती है। राममंदिर को लेकर वो पीएम मोदी पर हमलावर रहती है। ऐसे में नितिन गडकरी को समर्थन का एलान करके उसने साफ़ इशारा दे दिया है कि 2019 के चुनाव में वो किस तरफ़ है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here