उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ में भाजपा विधायक और थानेदार के बीच हाथापाई होने की खबर सामने आई है। बताया जा रहा है कि भाजपा विधायक राजकुमार सहयोगी अपने कार्यकर्ता के साथ बीते दिनों हुए एक झगड़े के मामले में थाने बातचीत करने के लिए पहुंचे थे। लेकिन इस दौरान दोनों पक्षों में भिड़ंत हो गई। विधायक और पुलिस में भिड़ंत की जानकारी मिलने के बाद पूरे पुलिस महकमे में खलबली सी मच गई है।

भाजपा विधायक राजकुमार सहयोगी का आरोप है कि गोंडा थाने में SO सहित तीन पुलिसकर्मियों ने उनके साथ मारपीट की और कपड़े भी फाड़ दिए।

वहीँ एसओ का कहना है कि विधायक ने ही सबसे पहले हाथ उठाया था। इस घटना के बाद थाने के बाहर विधायक समर्थकों की भारी भीड़ इकट्ठा हो गई है।

बताया जाता है कि भाजपा विधायक एबीवीपी कार्यकर्ता के साथ बीते दिनों हुई मारपीट के मामले में पुलिस थाने सिफारिश करने के लिए गए थे। उनका आरोप है कि एसओ ने मामले में रुपए लेकर कार्रवाई नहीं की है।

इस मामले में भारत समाचार न्यूज़ चैनल के एडिटर इन चीफ बृजेश मिश्रा ने इस घटना की वीडियो क्लिप शेयर करते हुए लिखा है कि भारतीय जनता पार्टी के अलीगढ़ के लोकप्रिय विधायक राजकुमार सहयोगी आज पुलिस “एनकाउंटर” के शिकार हो गए। थाने में विधायक जी को पुलिस ने कूट दिया।

इतना कूटा की कपडे तक फट गए। किसी तरह मीडिया वालों को बुलवाया, तब बचे। गए थे किसी की पैरवी में लेकिन पुलिस ने इज्जत ख़राब कर दी।

इस वीडियो को देख कर लोगों का कहना है कि अच्छा है यह व्यवस्था मंत्री तक पहुंचनी चाहिए। तभी पुलिस की मनमानी उजागर होगी, जब विधायक पिट रहे है तो जनता और कार्यकर्ताओं का हाल होगा।

एक यूज़र ने लिखा है कि बहुत बढ़िया अभी तो विधायक साहब का ही नंबर आया कुछ दिनों बाद ऐसे ही आम आदमी बेरोजगार युवा, गरीब जनता को मारा पीटा जाएगा..!! जो लोग सरकार की नीतियों के खिलाफ जाएंगे वे लोग आए दिन ऐसे ही पीटे जाएंगे, रोजगार शिक्षा की बात करना जुर्म UP सरकार मे फिर ये तो बीजेपी विधायक थे, अच्छा हुआ!

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here