गरीबों पर कोरोना लॉकडाउन का कहर जारी है। इस लॉकडाउन के चलते कहीं गरीब भूख से मर रहा है तो कहीं पेट के लिए राशन का इंतज़ाम करने वाली गरीब महिला को हवस का शिकार बनाया जा रहा है।

ताज़ा मामला उत्तर प्रदेश के शामली से सामने आया है। जहां भूख से परेशान राशन लेने गई एक 23 वर्षीय महिला के साथ कथित तौर पर राशन डीलर ने दुष्कर्म की वारदात को अंजाम दिया। बताया जा रहा है कि डीलर ने महिला से सरकारी आदेश के मुतबिक मुफ़्त में राशन देने का वादा किया था।

दरअसल, पीड़िता का पति लॉकडाउन की वजह से पंजाब में फंसा हुआ है। ऐसे में महिला के पास जब खाने के लिए राशन नहीं बचा तो वो इलाक़े के राशन डीलर के पास गई। पीड़िता ने सरकारी कोटे से डीलर से राशन देने के लिए कहा, लेकिन डीलर ने माना कर दिया। लेकिन इसके बाद वो महिला के घर पहुंच पहुंच गया और उसने महिला को राशन देने के बजाय अपनी हवस का शिकार बना लिया।

महिला ने पुलिस को बताया, “मंगलवार शाम को आरोपी विनोद मेरे घर आया और उसने मुझे राशन देने के बजाय मेरे साथ दुष्कर्म किया।” शामली के पुलिस अधीक्षक (एसपी) विनीत जायसवाल ने कहा, “पीड़िता द्वारा दर्ज कराई गई शिकायत के आधार पर पुलिस ने दुष्कर्म करने पर विनोद के खिलाफ आईपीसी की धारा 376 के तहत मामला दर्ज किया है। उसे गिरफ्तार कर लिया गया है और जेल भेज दिया गया है।”

बता दें कि महिला का पति दिहाड़ी मजदूर है और कुछ महीनों पहले काम के लिए पंजाब गया था, लेकिन देशव्यापी लॉकडाउन की घोषणा के बाद वह वहां फंस गया। जिसके चलते यहां उसकी पत्नी को दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here