उत्तर प्रदेश में होने वाले साल 2022 के विधानसभा चुनाव से पहले राज्य में सियासी माहौल गर्म होता जा रहा है। सभी राजनीतिक दलों ने अपनी रणनीतियों पर काम करना शुरू कर दिया है।

इस बार भारतीय जनता पार्टी और समाजवादी पार्टी के बीच कड़ी टक्कर होने के आसार नजर आ रहे हैं।

दरअसल समाजवादी पार्टी जहां भाजपा को बेरोजगारी, कोरोना महामारी में सामने आए सरकार के कुप्रबंधन और बदहाल स्वास्थ्य व्यवस्था पर घेर रही है।

वहीं भाजपा के पास इस बार चुनावी मुद्दे कम पड़ रहे हैं। इसी बीच खबर सामने आई है कि योगी सरकार उत्तर प्रदेश के शहरों के नाम बदलकर लोगों को असली मुद्दों से भटकाने का काम करने में जुट गई है।

खबर के मुताबिक, योगी सरकार अलीगढ़ का नाम बदलने की तैयारी में है। इस संदर्भ में पत्रकार दीपक शर्मा ने जानकारी साझा करते हुए भाजपा पर निशाना साधा है।

उन्होंने ट्वीट कर लिखा है कि ‘चुनाव नजदीक हैं, काम बताने को कुछ है नहीं और माहौल भी ठंडा है। तो इससे बेहतर क्या होगा कि फाईलों पर नाम बदला जाये। अलीगढ़ को हरिगढ़ करदें। माहौल भी गर्म होगा, झोली में कुछ वोट भी आयेंगे !!

बताया जाता है कि अलीगढ़ का नाम हरिगढ़ करने के अलावा कुछ भाजपा नेताओं ने धनीपुर मिनी एयरपोर्ट का नाम बदलकर राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री कल्याण सिंह के नाम पर रखने की मांग भी की है।

आपको बता दें कि इससे पहले इलाहाबाद का नाम बदलकर प्रयागराज किया गया था। इसके अलावा मुगलसराय रेलवे स्टेशन का नाम भी दीन दयाल उपाध्याय रेलवे स्टेशन किया जा चुका है।

इसके अलावा बीते कुछ दिनों से फिरोजाबाद और मैनपुरी का नाम बदलने की कोशिश भी की जा रही है।

बता दें, मैनपुरी समाजवादी पार्टी का गढ़ माना जाता है। समाजवादी पार्टी के संस्थापक और मुलायम सिंह यादव मैनपुरी से सांसद हैं। उन्होंने यहां से चार बार चुनाव जीता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here